Project

प्रताप नगर, सांगानेर (जयपुर)

प्रताप नगर सांगानेर आवासीय योजना राजसथान आवासन मण्डल की अब तक की सबसे बड़ी आवासीय योजना है। यह योजना जयपुर एयरपोर्ट से मात्र 2.00 कि.मी. की दूरी पर मुख्य टोंक रोड़ के दोनों ओर स्थित हैं। समस्त मूलभूत सुविधाओं से युक्त इस योजना में मेडिकल यूनिवर्सिटी, अस्पताल, विधालय, पोस्ट ऑफिस एवं सामुदायिक केन्द्र आदि निर्मित हैं।

माह जून-2015 तक प्रताप नगर सांगानेर आवासीय योजना में 36784 आवासों का निर्माण प्रारम्भ कर 32335 आवास पूर्ण किये जा चुके है एवं 32563 आवासों का आवंटन कर 29595 आवासों का भौतिक कब्जा आवंटियों को सौपा जा चुका हैं।

प्रताप नगर योजना के अधीन निर्मित विभिन्न आवासीय योजनाओं (राज आंगन, प्रताप एन्कलेव, कृष्णा अपार्टमेन्ट, चिनाब अपार्टमेनट, अलकनन्दा अपार्टमेन्ट, घरौंदा, मेवाड़ अपार्टमेन्ट, सतलज अपार्टमेन्ट) का कार्य पूर्ण किया जा चुका हैं एवं अधिकांश आवासों का कब्जा भी आवंटियों को सौंपा जा चुका है शेष रहे आवासों का कब्जा सौंपने सम्बंधी कार्य प्रगति पर हैं। वर्तमान में प्रताप नगर योजना में विभिन्न आय वर्ग के 2449 आवासों का निर्माण कार्य प्रगति पर है इनमें प्रमुख योजनाओं  का संक्षिप्त ब्यौरा निम्न प्रकार हैं।

1.            प्रताप अपार्टमेन्टः- प्रताप नगर योजना के सेक्टर 29 में 57476.00 वर्गमीटर क्षेत्रफल में प्रताप अपार्टमेंट बहुमंजिला योजना (स्टील्ट+10 स्टोरी) का निर्माण किया गया है। इस योजना के लिए जनवरी-2007 में उच्च आय वर्ग-प्रथम के 188, उच्च आय वर्ग-द्वितीय के 20, मध्यम आय वर्ग के 220 एवं मध्यम आय वर्ग के 300 फ्लेटों के पंजीकरण के लिए स्ववित्त पोषित योजना प्रारम्भ की गई थी। अल्प आय वर्ग के 1200 फ्लेटों के लिए विषिष्ट पंजीकरण योजना-2007 के तहत् पंजीकरण आमंत्रित किये गये है। अतः मूलतः योजना में कुल 1928 फ्लेट नियोजित थे। अल्प आय वर्ग के फ्लेटों का परिवर्तीत निर्मित क्षेत्रफल 42.44 वर्गमीटर होने से फ्लेटों की संख्या 1080 हो गई।

                अप्रेल-2011 में इस योजना का पुनर्नियोजन किया गया। इसके अन्तर्गत कम्पाउण्ड वाल बनाकर HIG Block, MIG-B Block, MIG-A Block, o LIG Block को पृथक-पृथक किया गया है तथा प्रत्येक ब्लॉक में प्रवेश के लिए अलग-अलग द्वार बनाये गये है। अल्प आय वर्ग के फ्लेटों की संख्या को पूर्व में प्रस्तावित 1080 फ्लैट्स के स्थान पर निर्मित 660 फ्लेटों तक सीमित करके शेष 5233.00 वर्गमीटर भूमि पर सामुदायिक केन्द्र नियोजित किया गया हैं। उक्तानुसार प्रताप अपार्टमेंट योजना में कुल 1380 फ्लैट्स का पुनर्नियोजन किया गया।

                पुनः वर्ष 2013-14 में स्ववित्त पोषित पंजीकरण योजना SFS-2013 (Ist & IInd Phase) , SFS-2014 के अन्तर्गत प्रताप अपार्टमेंट योजना के शेष रहे HIG-I 80, HIG-II 20 & MIG-B 110 Nos (S+10) फ्लैट्स के पंजीकरण प्राप्त कर माह मार्च-2014 में HIG-I 80 & HIG-II 20 Nos (S+10) व मई-2014 में मध्यम आय वर्ग के 110 फ्लैट्स का निर्माण कार्य प्रारम्भ किया जा चुका है।

                योजना के प्रारम्भ में नियोजित एवं पूर्ण निर्मित आवासों के आवंटन व लागत विवरण निम्नानुसार था:-

--------------

इस योजना में 1234 कार पार्किंग नियोजित किये गये है, जिसमें से 186 स्टिल्ट एवं 1048 ओपन पार्किंग है। इसी प्रकार से 885 स्कूटर पार्किंग नियोजित हैं, जिसमें से 739 स्टिल्ट एवं 146 ओपन कवर्ड पार्किंग है।

प्रताप अपार्टमेंट में उक्त निर्मित आवासों में से शेष रहे फ्लेट्स के भौतिक कब्जे देने की कार्यवाही प्रगति में है।

Project

मेवाड़ अपार्टमेन्टः- प्रताप नगर योजना के सेक्टर 15 में 23520.00 वर्गमीटर क्षेत्रफल में मेवाड़ अपार्टमेंट बहुमंजिला योजना (स्टील्ट+9 स्टोरी) का निर्माण शुरू किया गया। यह योजना मुख्य हल्दी घाटी मार्ग पर स्थित है। इस योजना में उच्च आय वर्ग- प्रथम, एवं उच्च आय वर्ग-द्वितीय के फ्लेट्स के लिए सत्र 2007 में एवं सत्र 2010 में स्ववित्त पोषित योजना के तहत पंजीकरण किये गये। इस योजना के अन्तर्गत प्रस्तावित फ्लेट्स की संख्या निम्नानुसार है:-

योजना में चेतक अपार्टमेंट योजना के अन्तर्गत पंजीकृत उच्च आय वर्ग-प्रथम के 16 और उच्च आय वर्ग-द्वितीय के 1 आवेदक के लिए भी फ्लेटों का आवंटन किया गया है। इस योजना में 5 Blocks A, B, C, D, E का निर्माण किया गया है। प्रत्येक ब्लॉक (A, B, C, D) में 70 फ्लेट बनाए गयें है तथा ब्लाक E में 72 फ्लेट बनायें गये है। इस प्रकार कुल 352 फ्लेट्स का निर्माण किया गया है। इन 352 फ्लैटों में से 306 फ्लैटों का कब्जा सौंपा जा चुका है।

इस योजना के अन्तर्गत निर्मित 5 Blocks A, B, C, D, E के चारों तरफ कम्पाउण्ड वॉल बनाई गई है तथा प्रवेश के लिए 3 प्रवेश द्वार बनाए गयें है। प्रत्येक ब्लॉक के स्टिल्ट फ्लोर पर एक कॉमन हॉल, सोसाइटी रूम, गार्ड रूम एवं टॉयलेट का निर्माण किया गया है। इस योजना में कार पार्किंग का निर्माण किया गया है। प्रत्येक आवंटी को एक स्टिल्ट पार्किंग/कवर्ड कार पार्किंग आवंटित की गई है।

                मेवाड़ अपार्टमेंट परिसर में सामुदायिक सुविधाओं हेतु एक सामुदायिक केन्द्र एवं चार दुकानों का निर्माण कार्य किया गया है।

Project

गोदावरी अपार्टमेन्टः- सेक्टर-29 में अफोर्डेबल योजना के अन्तर्गत आर्थिक दृष्टि से कमजोर आय वर्ग (G+3) के 416, अल्प आय वर्ग (G+3) के 368 व मध्यम आय वर्ग (G+3) के 160, कुल 944 फ्लैट्स का निर्माण कार्य पूर्ण कर आवंटन किया जा चुका हैं एवं वर्तमान में इनका भौतिक कब्जा आवंटियों को सौपने सम्बंधी कार्य प्रगति पर हैं।

Project

व्यास अपार्टमेन्टः- व्यास अपार्टमेन्ट योजना (बी-ब्लॉक) प्रताप नगर योजना के सेक्टर-11 में लगभग 8450 वर्गमीटर क्षेत्रफल में व्यास अपार्टमेन्ट योजना (बेसमेन्ट+ स्टिल्ट+ 10) बहुमंजीले फ्लैट्स का निर्माण कार्य प्रगति पर हैं। यह योजना मुख्य कुम्भा मार्ग पर स्थित है व व्यास अपार्टमेन्ट ए-ब्लॉक में मध्यम आय वर्ग-ब (G+2S+3) का निर्माण कार्य पूर्व में ही पूर्ण कर दिया गया था व व्यास अपार्टमेन्ट के सी-ब्लॉक में मध्यम आय वर्ग-ब के 108 फ्लैट्स (G+2) का निर्माण कार्य पूर्ण कर आवास आवंटियों को सम्भलवाये जा चुके हैं।

                व्यास अपार्टमेन्ट ‘‘बी’’ ब्लॉक में निर्माणाधीन 160 मध्यम आय वर्ग-ब के फ्लैट्स स्ववित्‍त पोषित योजना के अन्तर्गत सन्-2016 तक पूर्ण कर दिये जाने की सम्भावना हैं। निर्मित एक फ्लैट में तीन बेडरूम, ड्राइंगरूम/डाईनिगरूम, तीन टॉयलेट, किचन, बालकनी का निर्माण किया गया हैं। एक फ्लैट का निर्मित क्षेत्रफल लगभग 104.00 वर्ग मीटर व सुपर निर्मित क्षेत्रफल लगभग 124.00 वर्गमीटर हैं। प्रति फ्लैट निर्माण की सम्भावित लागत लगभग 35.00 लाख हैं।

द्वारकापुरीः- प्रदेश के शहरी क्षेत्र में अनवरत बढ़ रही आवासीय मांग के विपरित भूमि की उपलब्धता में आ रही निरन्तर कमी तथा भू-अर्जन में व्याप्त कठिनाईयों के बीच सांजस्य स्थापित करके शहरी क्षेत्र के निर्धन परिवारों को आवास मुहैया करवाने के अपने लक्ष्य की दिशा में राजस्थान आवासन मण्डल द्वारा प्रताप नगर, सांगानेर जयपुर के सैक्टर-26 में द्वारकापुरी योजना 8 दिसम्बर 2005 को प्रारम्भ की गई। इस योजना के प्रथम चरण में 2976 फ्लैट प्रस्तावित हैं। योजना में निर्मित आवास, भूतल व सात मंजिल के प्रस्तावित किये गये थे। निर्मित प्रत्येक आवास के सामने 6 फिट चैड़ा बरामदा प्रस्तावित था। भूकम्प रोधी एवं अग्निरोधी तकनीक से निर्मित इन आवासों में एक बहुउद्वेशीय कमरा, रसोई, शौचालय एवं स्नानागार का निर्माण प्रस्तावित था। आवास का भूतल पर निर्मित क्षेत्रफल 44.75 एवं दुसरे सभी तलों पर निर्मित क्षेत्रफल 33.44 वर्गमीटर प्रस्तावित किया गया था। जून 2015 तक 1116 आवास पूर्ण कर 1640 आवास आवंटित कर दिये गये है, जिसमें से 661 आवासों का कब्जा दिया जा चुका हैं। शेष आवास निर्माणाधीन हैं।
Project