Menu

Progress Photographs

Brief Note on UIT Developmemt Work upto 2014

 

1. मुख्यमंत्री जन आवास योजना के कार्यों की प्रगति एवं कठिनाईयां  :   

न्यास की विभिन्न योजनाओ में 387 म्ॅै एवं 165 स्प्ळ  भूखंडो का आवंटन न्यास द्वारा कर आवंटियों को कब्जा प्रदान कर दिया गया । जिनमें से 357 स्प्ळ भूखण्ड़ बीछवाल आवासीय योजना, यादवेन्द्र चन्द्र शर्मा व शौकत उस्मानी नगर योजना में स्थित है। स्वर्ण जयन्ति आवासीय योजना में स्प्ळ  श्रेणी के  165 भूखण्ड़ों का एवं म्ॅै श्रेणी केे 30 भूखण्ड़ों का आवंटन कर कब्जा दे दिया गया है। कुल 552 भूखण्ड़ों का आवंटन कर कब्जा आवंटियों को सुपूद्र्व कर दिया गया है।  450 म्ॅै एवं 250 स्प्ळ श्रेणी के भूखंडो पर आवास गृहों का निर्माण किया जाना था, जिसमे से 250 म्ॅै भूखंडो पर आवासों का निर्माण पूर्ण कर आवटन कर दिया गया एवं 168 स्प्ळ श्रेणी के आवास गृहों का निर्माण पूर्ण कर लिया गया।  परन्तु माननीय उच्च न्यायालय के स्थगन आदेश के कारण भूखंडो का कब्जा नहीं दिया जा सका है। मुख्यमंत्री जन अवास योजना के अंतर्गत मोहता सराय की 8000/- सेक्वेयर मीटर भूमि पर म्ॅै श्रेणी के आवास गृहों हेतु प्रावधान - 4 । ;प्प्द्ध के अंतर्गत पब्लिक प्राइवेट पार्टनरशिप स्कीम के तहत ई.ओ.आई. आमंत्रित कर ली गयी है। आवेदन पत्र प्राप्त होने पर उक्त कार्य आगामी दो वर्ष में पूर्ण कर लिया जायेगा। 

मुख्यमंत्री जन आवास योजना 2015 के तहत निजी विकासकर्ता के द्वारा ग्राम करमीसर खसरा नं 95 में प्रोविजन-3(ए) के तहत मैसर्स ग्राउण्ड क्राफ्ट प्राईवेट लिमिटेड के द्वारा 180 ई.डब्लू.एस व 520 एल.आई.जी फ्लेटस के निर्माण हेतु आवेदन न्यास में प्रस्तुत किया है। जिसका नगर विकास न्यास बीकानेर द्वारा 90-ए में योजना का कंनवर्जन कर नामान्तरण नगर विकास न्यास बीकानेर के नाम दर्ज करने हेतु तहसीलदार राजस्व बीकानेर को पत्र भिजवाया जा चुका है। नामान्तरण पश्चात् अग्रिम कार्यवाही की जानी प्रस्तावित है।

प्रधानमंत्री जन आवास योजना के अंतर्गत केन्द्र सरकार द्वारा आर्थिक दृष्टि से कमजोर आय वर्ग के परिवारों को अपने आवास निर्माण अथवा आवास अभिवृद्वि हेतु 1.50 लाख की आर्थिक सहायता प्रदान की जा रही है। उक्त योजना के अंतर्गत नगर विकास न्यास बीकानेर की आवासीय योजनाओं मुरलीधर व्यास नगर, मुरलीधर व्यास नगर विस्तार, मुक्ता प्रसाद आवासीय योजना, करणी नगर, बीछवाल आवासीय योजना, सूर्य नगर, अन्तोदय नगर, अशोक नगर, अशोक नगर विस्तार, स्वर्ण जयन्ति, शौकत उस्मानी, ग्राम शरह स्वरूपदेसर खसरा नं. 165/166 में आवंटित ई.डब्लू.एस व एल.आई.जी भूखण्ड़ धारकों हेतु अपने भूखण्ड़ में आवास निर्माण अथवा निर्मित आवास में अभिवृद्वि हेतु दिनांक 27.06.2016 से 01.07.2016 तक अम्बेडकर सामुदायिक भवन में राज्य सरकार द्वारा अधिकृत कंसलटेसी ैजमेंसपज ेलेजमउे स्पउजमक के द्वारा निर्धारित प्रारूप में फाॅर्म भरवाने हेतु कैम्प का आयोजन हेतु विज्ञप्ति जारी की जा चुकी है । जिससे अधिक से अधिक संख्या में आर्थिक दृष्टि से कमजोर आय वर्ग के परिवारों को लाभान्वित किया जा सकें। 

प्रधानमंत्री जन आवास योजना के अंतर्गत केन्द्र सरकार द्वारा आर्थिक दृष्टि से कमजोर आय वर्ग के परिवारों को अपने आवास निर्माण अथवा आवास अभिवृद्वि हेतु 1.50 लाख की आर्थिक सहायता प्रदान की जा रही है। उक्त योजना के अंतर्गत नगर विकास न्यास बीकानेर की कृषि भूमि पर स्वीकृत 90-ए एवं 90-बी आवासीय योजनाओं में आरक्षित ई.डब्लू.एस व एल.आई.जी भूखण्ड़ों को लाॅटरी के माध्यम से आर्थिक दृष्टि से कमज़ोर आय वर्ग के परिवारों को आवंटित करने की विभागीय प्रक्रियाधीन है। 

 

2. रिसर्जेन्ट राजस्थान में किये गए एम.ओ.यु. के संबंध में हुई कार्यवाही की प्रगति एवं कठिनाईयाः-

रिसर्जेन्ट राजस्थान के अन्तर्गत राज्य सरकार द्वारा नगर विकास न्यास बीकानेर के कुल तीन एम ओ यू हस्ताक्षर किये गये । जिनमें इन्वर्ड प्रा.लि. द्वारा अन्तराष्ट्रीय स्तर का डेयरी फार्म की प्रोजेक्ट, ऐपीक व्यापार द्वाराा 200 बैड हाॅस्पिटल, नर्सिग काॅलेज, आयुर्वेद हाॅस्पिटल, योगा सेन्टर तथा ए.बी.पी.प्रा.लि. द्वारा अर्फोडेबल आवासीय फ्लेटस् निमार्ण हेतु एम ओ यू किये गये । उक्त निवेश कार्ताओ द्वारा आज दिनांक तक  न्यास में कोई आवेदन प्रस्तुत नही किये गये है । रिसर्जेन्ट राजस्थान के सफल क्रियान्वयन उद्वेश्य से उक्त निवेशको को आवेदन पत्र प्रस्तुत किये जाने हेतु दूरभाष पर सम्ंपर्क करते हुए न्यास की और से पत्र लिखे जा चुके है। इस हेतुु मैसर्स ईपीक व्यापार प्राईवेट लिमिटेड को पत्र क्रमांक 5660 दिनांक 21.04.2016 मैसर्स इनवार्ड विनिमय प्राईवेट लिमिटेड को 5659 दिनांक 21.04.2016, मैसर्स एबीपी हाऊसिग को पत्र क्रमांक 2278 दिनांक 17.02.2016 एवं 5661 दिनांक 21.04.2016 जारी किए जा चुके है। 

इन्वर्ड प्रा.लि. द्वारा न्यास में प्रार्थना पत्र प्रस्तुत कर प्रोजेक्ट के संन्दर्भ में तकनिकी मान दण्डों एवम वितिय शिथिलताओं बाबत् विवरण चाहा गया था, जिसके न्यास के कार्यालय पत्राक 4918 दिनांक 05.04.2016 के माध्यम से राज्य सरकार से मार्गदर्शन चाहा गया है। 

 

3. माननीय मुख्यमंत्री महोदय की घोषणाये/निर्देश

 

क्र0 सं0 घोषणाऐं अति. मुख्य सचिव महोदय द्वारा दिये गये निर्देश न्यास अनुसार वर्तमान स्थिति (दिनांक 04.04.2016 को)

1 बीकानेर शहर में केईएम0 रोड़ एवं मुख्य बाजार की पार्किग की समस्या के समाधान एवं कोटगेट क्षेत्र के मुख्य व्यापारिक क्षेत्र में सुचारू आवागमन के लिए रतन बिहारी मंदिर पार्क में पार्किंग क्षेत्र बनाया जायेगा। इसका क्रियान्वयन न्यायालय निर्णय के अध्यधीन होगा। देवस्थान विभाग के प्रतिनिधि को आगामी तारीख पेशी दिनांक 05.02.2015 पर प्रभावी पैरवी कर पक्षकार बनने एवं शीघ्र स्थगन आदेश हटवाने हेतु निर्देशित किया गया। सचिव, नगर विकास न्यास बीकानेर को ट्रैफिक स्टडी कन्सलटेंट से पार्किग की आवश्यकता का आकंलन करवाये जाने हेतु प्राप्त बिड के शीघ्र स्वीकृति सम्बन्धी कार्यवाही करने हेतु निर्देशित किया गया। निर्देशानुसार न्यास के स्तर पर रतन विहारी मंदिर पार्क में पार्किग क्षेत्र बनाये जाने हेतु पार्किग की आवश्यकता (डिमाण्ड) का आंकलन किया गया। वर्तमान में रतन बिहारी पार्क में न्यायालय का स्थगन है। रतन बिहारी पार्क  देवस्थान विभाग की सम्पति है तथा देवस्थान विभाग द्वारा स्थगन आदेश हटवाने की कार्यवाही की जानी है। न्यायालय में पक्षकार बनाये जाने हेतु देवस्थान विभाग द्वारा प्रार्थना पत्र प्रस्तुत कर दिया गया जिसे न्यायालय द्वारा स्वीकार कर लिया गया।

स्थगन आदेश की आगामी तारीख पेशी 30  जुलाई 2016 को नियत है। 

 

2 बीकानेर शहर एवं गंगाशहर में बचे हुए क्षेत्र में सीवरेज का कार्य करवाया जायेगा। प्रस्तावित घोषणा के सम्बन्ध में आर.यू.आई.डी.पी.से वर्तमान प्रगति/ए.डी.बी. के प्रस्तावित प्रोग्राम लोन में करवाये जाने के सम्बन्ध में हुए निर्णय की जानकारी प्राप्त करने हेतु निर्देशित किया गया। दिनंाक 06.04.2015 को आरयुआईडीपी के परियोजना निदेशक  श्री नवीन महाजन की अध्यक्षता में हुई बैठक में उन्होने अवगत कराया कि एडीबी से प्रस्तावित थर्ड फेज के  प्रोगाम लोन का प्रोजेक्ट तैयार किया जा रहा है। यह प्रोजेक्ट  गंगाशहर क्षेत्र के लिए बनाया जाना प्रस्तावित है। उनसे यह निवेदन किया कि शिववाडी जोन को भी इनमें शामिल किया जावें। जिससे बीकानेर शहर के चारों जोन में सीवरेज उपलब्ध हो सकेगी। उनके निर्देशानुसार इसका प्रस्ताव जिला कलक्टर की ओर से पत्र क्रंमाक 4981-85 दिनंाक 16.04.2015 द्वारा भिजवाया गया है। इसी क्रम मे दिनांक 13 अगस्त 2015 को आर.यू.आई.डी.पी द्वारा जिला कलक्टर महोदया की अध्यक्षता मे बैठक आयोजित की गई तथा बैठक मे लिए गए निर्णय अनुसार गंगाशहर के साथ साथ शिवबाडी, मुरलीधर व्यास नगर जोन मे शेष रहे कार्य तथा बल्लभ गार्डन जोन मे सीवर लाईन मरम्मत का कार्य आर.यु.आई.डी.पी द्वारा ए.डी.बी फेज ााा प्रोग्राम लोन मे करवाया जाना प्रस्तावित है। आर.यू.आई.डी.पी के द्वारा गंगाशहर में सीवरेज लाईन के कार्य हेतु दिनांक 28.03.2016 को निविदा आमंत्रित कर ली गई है। जिसकी प्री-बीड मिटिंग 21.04.2016 को सम्पन्न हो चुकी है। इस कार्य हेतु तकनीकी बिड़ दिनांक 19.05.2016 को खोली जा चुकी है। । जिस पर अग्रिम कार्यवाही आर.यू.आई.डी.पी के स्तर पर ही की जानी है।   

3 रामपुरिया हवेली जो कि बीकानेर का एक मुख्य पर्यटन स्थल है कि विकास के लिए 4 कि0मी0 लम्बे हेरीटेज वाॅक बनाया जायेगा। जोधपुर विद्युत वितरण के प्रतिनिधि के द्वारा बताया गया कि अब तक लगभग 0.70 किमी का कार्य सम्पन्न हो चुका है। परन्तु गत एक माह में मात्र 0.20 किमी कार्य सम्पन्न होने की स्थिति को देखते हुए कार्य में गति लाने हेतु निर्देशित किया गया। उपस्थित अधिकारी को निर्देशित किया गया कि वे सम्बन्धित अधिकारियों को मार्च माह के अंत तक कार्य सम्पादन हेतु निर्देशित करें तथा कार्य सम्पन्न कराने हेतु टाईम लाईन तय करे ताकि घोषाणा की क्रियान्विति की पालना में विद्युत लाईन भूमिगत होने के पश्चात् सिविल कार्य हो सके। नगर निगम,बीकानेर के अधिकारी को भी निर्देशित किया गया कि वे उक्त मार्ग में आ रहे अतिक्रमणों को हटवाने की कार्यवाही करें ताकि कार्य में गति आ सके। इस हेतु नगर निगम बीकानेर विद्युत विभाग को पूर्ण सहयोग प्रदान करे।   हेरीटेज वाॅक की कुल लम्बाई 3.2 किमी. है जिसमे से वर्तमान मे करीब 2.7 किलोमीटर की अण्डरग्राउण्ड केबंिलग का कार्य किया जा चुका है चंुकि उक्त क्षेत्र नगर निगम क्षेत्राधिकार में आता है अतः नगर निगम,नगर विकास न्यास व जोधपुर विधुत वितरण निगम लिमिटेड बीकानेर द्वारा संयुक्त निरीक्षण कर मौके पर नाली निर्माण व अण्डर ग्राउण्ड केबलिंग का कार्य किया जा रहा है। जोधपुर विधुत वितरण निगम लिमिटेड द्वारा रामपुरिया हवेली से जैन मन्दिर तक के मार्ग पर अण्डर ग्राउंन्ड केबलिंग का कार्य कर दिया गया है। जैन मन्दिर से लक्ष्मीनाथ जी मन्दिर तक के शेष रहे क्षेत्र में अण्डरग्राउण्ड केबलिंग का कार्य किया जाना शेष है।

न्यास द्वारा सिविल वर्क हेतु नाली, फुटपाथ, इन्टर लाॅकिंग ब्लाॅक के कार्य व हैरिटेज विधुत पोल का  कार्य जैन मन्दिर मार्ग से लेडी एल्गिन स्कूल वाया रामपुरिया हवेली व सिटी कोतवाली तक पर पूर्ण कर दिया गया है। लक्ष्मीनाथ जी मन्दिर एवं रामपुरिया हेवली के समीप र्कोबल स्टोन लगाने का कार्य पूर्ण हो गया है। न्यास द्वारा लगभग 2800 ेुउ इन्टरलोक्रिग टाइल, 1800 ेुउ कोर्बल स्टोन का कार्य, लगभग 2500 मी. नाली सुदृढिकरण, 800 मी. नाला सिफ्टिंग, 1600 ेुउ सी सी सङक का निर्माण इत्यादी कार्य करवा दिया है। सिटी कोतवाली से रामपुरिया हवेली तक सड़क व नाली निर्माण कार्य पूर्ण कर लिया गया है एवं वाॅक-वे निर्माण कार्य प्रगति पर है। राज्य सरकार के पत्रांक प.2(7)नविवि/बीकानेर/2016 दिनांक 11.04.2016 की अनुपालना में इण्डियन हेरिटेज सिटीज नेटवर्क फाऊंडेशन को बीकानेर में निर्माणाधीन हेरिटेज वाॅक पर एक्सपर्ट राय हेतु निवेदन किया गया। इण्डियन हेरिटेज सिटीज नेटवर्क फाऊंडेशन के आर्किटेक्ट एवं प्रतिनिधियों से न्यास के तकनीकी अधिकारियों की बैठक एवं हेरिटेज वाॅक के निर्माण कार्यों से संबंधित चर्चा कर ली गई है। इनके प्रतिनिधि को बीकानेर हेरिटेज वाॅक से संबंधित समस्त दस्तावेज उपलब्ध करवा दिये गये है। इण्डियन हेरिटेज सिटीज नेटवर्क फाऊंडेशन के आर्किटेक्ट एवं तकनीकी प्रतिनिधियों द्वारा बीकानेर हेरिटैज वाॅक का निरीक्षण कर लिया गया। एवं अपनी एक्सपर्ट राय न्यास को ई-मेल द्वारा हाल ही में प्राप्त हुई है। इनसे प्राप्त एक्सपर्ट राय अनुसार शेष रहे कार्यों का तकमीना बनाकर नियमानुसार अग्रिम कार्यवाही की जानी प्रस्तावित है। इस संबंध में इण्डियन हेरिटेज सिटीज नेटवर्क फाऊंडेशन से प्राप्त सुझाव में डस्टबिन की आपूर्ती एवं शौचालय के निर्माण एवं उसके नियमित रख-रखाव का कार्य नगर निगम बीकानेर द्वारा किया जाना प्रस्तावित है। उल्लेखित है कि इण्डियन हेरिटेज सिटीज नेटवर्क फाऊंडेशन की नियुक्ति स्वायत्त शासन विभाग द्वारा की गई है एवं फर्म द्वारा शहर के अन्य महत्वपूर्ण स्थानों के सर्वें का कार्य प्रगति पर है। जिसमें भी चिन्हित स्थानो पर डस्टबिन रखने एवं सार्वजनिक शौचालयों के निर्माण की आवश्यकता रहेगी जिसे भी नगर निगम के माध्यम से सम्पादित करवाया जाना प्रस्तावित है। अतः इस हेतु स्वायत्त शासन विभाग द्वारा नगर निगम को निर्देंशित किया जाना अपेक्षित है। शेष रहे कार्यों की कार्यवाही न्यास द्वारा प्रगति पर है।  इनसे प्राप्त एक्सपर्ट राय अनुसार शेष रहे कार्यों का सुझावों पर विस्तृत तकमीना तैयार कर निविदा आमंत्रित कर ली गई है।

4 रविन्द्र रंगमंच का सुधार एवं निर्माण कार्य पूर्ण कराया जायेगा (बीकानेर) प्रस्तावित घोषणा की शीघ्र पालना हेतु अतिरिक्त मुख्य सचिव महोदय  की अध्यक्षता में दिनंाक 27.04.2015 का हुई बैठक में आर्किटेक्ट हाफिज को. से प्राप्त सुझावों व विकल्प की जाँच कर अग्रिम कार्यवाही हेतु निर्देंश प्रदान किये गए। रविन्द्र रंगमंच का निमार्ण कार्य सन् 1994 में शुरू हुआ परन्तु वित्तीय संसाधनों के अभाव में वर्ष 1995 में बन्द हो गया जिससे समय-समय पर पुनः शुरू करने की कोशिश की गई किन्तु वित्तीय संसाधनों के अभाव में कार्य शुरू नही हो पाया वर्ष 2011 में टेगौर कल्चरल कोम्पलेक्स स्कीम के तहत् वित्तीय सहायता प्राप्त करने हेतु कार्यवाही शुरू की गई जिसके लिए नेशनल स्कूल आॅफ ड्रामा के थियटर विशेषज्ञ डाॅ निसार आलाना ने रविन्द्र रंगमंच का निरीक्षण किया और कार्य की विस्तृत परियोजना हेतु नेशनल स्कूल आॅफ ड्रामा में प्रस्तुत करने के निर्देश दिये गये जिसकी अनुपालना में 20 फरवरी 2012 को नेशनल स्कूल आॅफ ड्रामा की निदेशक श्रीमती अनुराधा कपूर के सामने विस्तृत परियोजना रिपोर्ट पस्तुत की गई। श्रीमती अनुराधा कपूर के दिये गये सुझावों को शामिल करते हुए  न्यास के नव नियुक्त आर्किटेक्ट मैसर्स ज्ञण्स्ण्डण् कन्सलटेंट द्वारा प्रस्तुत रविन्द्र रंगमंच की विस्तृत कार्य योजना रिपोर्ट नेशनल स्कूल आॅफ ड्रामा को टैगोर कल्चरल स्कीम के तहत अनुदान आवंटन हेतु निर्धारित आवेदन प्रारूप को क्रंमाक संख्या 20563-20565 के द्वारा दिनंाक 28.11.2014 को स्पीट पोस्ट के द्वारा नेशनल स्कूल आॅफ ड्रामा को प्रेषित कर दिया गया है। टेगोर कल्चर काॅम्पलेक्स स्की म के तहत कुल लागत राशि का 60 प्रतिशत राशि (570 लाख रूपये)  केन्दी्रय सहायता प्राप्त करने के लिए पत्र क्रमांक 20563 दिनांक 28.11.2014 के द्वारा केन्द्रीय सरकार को प्रेषित किया गया है।  इसी क्रम मे आग्रह करने हेतु माननीय मुख्यमत्रंी महोदया द्वारा लिखे जाने वाला पत्र का ड्राफ्ट 2 सितम्बर 2015 को अतिरिक्त मुख्य सचिव महोदय को ईमेल द्वारा प्रेषित किया गया है। रविन्द्र रंगमंच के निर्माण हेतु अनुदान राशि हेतु राज्य सरकार को दिनांक 03.11.2015 को पुनः पत्र लिख आग्रह किया गया।

 मैसर्स हाफिज द्वारा दिनंाक 01.06.2015 को चतुर्थ विकलप प्रस्तुत किया गया। इस विकल्प पर मैसर्स के.एल.एम. एसोसियेट व मैसर्स आर्किटैक्ट हाफिज को समान रूप से सहमत दिखे। अतः न्यास पंत्राक नविन्यास/बीका/अधि-अधि-ा /2014/6245-47 दिनंाक 03.06.2015 द्वारा नवीन विकल्प अनुसार कार्य की जाने की स्वीकृति माँगी गई। जिसके क्रम में शासन उप सचिव द्वितीय नगरीय विकास विभाग राजस्थान सरकार के पंत्राक पं.2(15)नविवि/ जनरल/2014/ जयपुर दिनंाक   08.06.2015 से स्वीकृति प्राप्त हो गई है। जिसके क्रम में न्यास द्वारा रविन्द्र रंगमंच के संवेदको को पंत्राक नविन्यास/बीका/अधि-अधि ाा/2015/6377-391 दिनंाक 09.06.2015 को पत्र जारी कर कार्य शुरू करवा दिया गया वर्तमान मे न्यास द्वारा बेसमेट का कार्य व रूफ ट्रीटमेन्ट का कार्य पूर्ण कर दिया है मल्टीपरपज हाॅल के निर्माण हेतु आॅडिटोरीयम की संरचना में बदलाव कर मल्टीपरपज हाॅल की सरंचना का निर्माण कार्य , आॅडिटोरियम मे कैटवाॅक का निर्माण कार्य एंवम् फिक्सिंग कार्य, आॅडिटोरियम स्टेज मे सीसी फ्लोरिंग का कार्य पूर्ण हो गया है। विनायल फ्लोरिंग ओर वुडन फ्लोरिगं का कार्य, फायर फायटिंग  सेनेट्र्री, लैण्डस्केपिंग, बाह्य विघुत कार्य, फाॅलससेलिंग का कार्य, आॅडिटोरियम आॅडियो विजूएल , स्टेज विंग वाॅल्स, स्टेज फाॅलससेलिंग, स्टेज फ्लोरिंग  एवम् स्टैज एफ एफएचओ बार इत्यादि समानान्तर प्रगति पर है। स्वीकृत विकल्प के अनुसार करवाये जाने वाले अतिरिक्त/अधिक कार्य एवं प्रख्यात नाट्यकर्मी श्रीमति संजना कपूर द्वारा दिये गये सुझावों को सम्मिलित करने पर करवाये जाने वाले अतिरिक्त/अधिक कार्य का तकमीना बनाकर मूल कार्य में सम्मिलित करते हुए न्यास बज़ट बैठक दिनांक 12.05.2016 में स्वीकृत करते हुए संशोधित वित्तीय स्वीकृति जारी कर दी गई है।

5 गंगा थियेटर का पुनरूद्धार एवं निर्माण कार्य न्यायालय आदेश के अध्यधीन कराया जायेगा (बीकानेर) सार्वजनिक निर्माण विभाग से उपस्थित अधिकारी को माननीय उच्च न्यायालय द्वारा दिनांक 12.01.15 को दिये गये स्थगन आदेश को समाप्त कराने हेतु पक्षकार बनने एवं प्रभावी पैरवी करने हेतु निर्देशित किया गया। गंगा थियेटर भवन को सार्वजनिक निर्माण विभाग बीकानेर द्वारा खाली करवाये जाने की कार्यवाही प्रगति पर है। भवन को खाली कराये जाने के पश्चात् ही नगर विकास न्यास, बीकानेर द्वारा किसी विख्यात वास्तुकार से रिनोवेशन प्लान तैयार करवाया जाना संभव होगा।भवन को खाली करवाने के संबंध में श्रीमान जिला कलक्टर बीकानेर द्वारा पंत्राक 6627 दिनंाक 30.12.2014 के द्वारा फर्म को नोटिस जारी किया गया था। फर्म द्वारा माननीय उच्च न्यायालय में उक्त नोटिस के विरूद्ध अपील की गई जिस पर माननीय न्यायालय द्वारा दिनंाक 12.01.2015 को स्थगन आदेश प्रदान कर दिये गये है। सार्वजनिक निर्माण विभाग की तथ्यात्मक रिपोर्ट अतिरिक्त महाअधिवक्ता जोधपुर को प्रेषित कर दी गई है। माननीय राजस्थान उच्च न्यायालय मे आगामी तारीख पेशी माह जुलाई में प्रस्तावित है। जिला कलक्टर महोदय द्वारा अधिक्षण अभियन्ता, सार्वजनिक निर्माण विभाग को प्रकरण में मंतसल ीमंतपदह की ंचचसपबंजपवद लगाकर शीघ्र स्टे हटाने हेतु निर्देंशित किया गया है। इस संबंध मे सार्वजनिक निर्माण विभाग जयपुर के मुख्यालय द्वारा अधीक्षण अभियन्ता, सार्वजनिक निर्माण विभाग बीकानेर को निर्देशित करवाया जाना उचित होगा।

6 बीकानेर शहर को ग्रीन सिटी के रूप में विकसित किया जायेगा। सचिव, नगर विकास न्यास, बीकानेर को घोषणा की पालना के सम्बन्ध में समय-समय पर प्रगति से अवगत कराने हेतु निर्देशित किया गया।  दिनंाक 27.04.2015 को अतिरिक्त मुख्य सचिव महोदय की अध्यक्षता में हुई बैठक में न्यास बीकानेर को शहर के मध्य स्थित पार्क को विकसित करने हेतु निर्देंशित किया गया था। बीकानेर शहर को ग्रीन सिटी के रूप मे विकसित करने के लिए न्यास द्वारा मुख्य मार्गो, पार्को एवम् पीबीएम अस्पताल परिसर मे पौधारोपण व लैंड स्केपिंग के कई कार्य करवाये जा रहे है इन कार्यो मे विभिन्न सस्ंथाओ, एनजीओ एवम् सरकारी कार्यालयो का सहयोग लिया जाता है। न्यास द्वारा स्वंय के स्तर पर मुख्य मार्गो, पार्को एंवम् पीबीएम अस्पताल परिसर मे पौधारोपण व लैंडस्केपिंग का कार्य करवाकर उनका अनुरक्षण व संधारण नियमित किया जा रहा है। विभिन्न संस्थाओ द्वारा किए गए पौधारोपण के कार्य का भी न्यास द्वारा समय समय पर निरीक्षण किया जा रहा है।

न्यास द्वारा बीकानेर शहर को ग्रीन सिटी के रूप में विकसित करने हेतु किये गए वृक्षारोपण हेतु वन विभाग द्वारा वन दिवस पर उत्कर्ष कार्य हेतु प्रशस्ति पत्र व नगद राशि देकर दिनंाक 21.03.2015 को सम्मानित किया गया है।

स्वर्ण जयन्ति पार्क वृद्धजन भ्रमण पथ पर नई दूब लगाई गई। इसके एक भाग पर लेण्ड स्केपिंग का कार्य भी न्यास द्वारा किया गया है। पूर्ण रूप से क्षतिग्रस्त दूब पर रेडिमेड दूब लगाकर पार्क का विकास किया गया है। न्यास द्वारा भ्रमण पथ के रखरखाव एवं सिंचाई व्यवस्था हेतु निविदा जारी कर कार्यादेश प्रदान कर दिये गये है। स्वर्ण जयन्ति पार्क वृद्वजन भ्रमण पथ पर नियमित अनुरक्षण का कार्य किया जा रहा है। 

प्राप्त निर्देशानुसार नगर निगम बीकानेर द्वारा अमृत योजना के अंतर्गत बीकानेर शहर के मुख्य पार्को को विकसित करने के लिए डी.पी.आर. बनाये जाने हेतु निविदा आमंत्रित कर डी.पी.आर. बनाये जाने की कार्यवाही शुरू कर दी गयी है।

नगरीय विकास विभाग, राजस्थान सरकार, जयपुर के पत्रांक प.2(22)नविवि/बीकानेर/2015 जयपुर दिनांक 09.05.2016 से प्राप्त निर्देशानुसार रविन्द्र रंगमंच के आस-पास के क्षेत्र, टाऊन हाॅल, म्युजियम, गाँधी पार्क, भ्रमण पथ इत्यादि का एकीकृत एवं सुनियोजित विकास हेतु डीपीआर बनाये जाने के लिए इनपेैनल कंसलटेंट के चयन करने की प्रक्रिया प्रक्रियाधीन है। इन्पैन्ल्ड कन्सलटैन्ट को डी.पी.आर. बनाये जाने हेतु  ईओआई आमंत्रित कर ली गई है। जिसका प्रस्तुतीकरण दिनंाक-20 जून 2016 को किया जाना प्रस्तावित है। शीघ्र ही नियमानुसार कंसलटेंट नियुक्त कर अग्रिम कार्यवाही की जानी प्रस्तावित है।  

7 सूरसागर में गन्दे पानी की आवक को रोक कर साफ पानी डालने की व्यवस्था करायी जायेगी तथा जूनागढ से आने वाले पानी के लिए रेन हार्वेेस्टिंग सिस्टम बनाया जाये। कार्य की विस्तृत परियोजना रिपोर्ट तैयार करने एंवम् स्वीकृत प्रस्तुतीकरण के अनुसार सिविल व विद्युत कार्य इत्यादि कार्य की निविदा आमत्रिंत कर कार्य अतिशीघ्र शुरू करवायें। सूरसागर के सौन्दर्यकरण व वाटर हारवैस्टिंग की विस्तृत रिपोर्ट बनाने हेतु नगरीय विकास विभाग जयपुर के पंत्राक प.8(11)नविवि/1/2012 दिनंाक 11.01.2014 के अन्तर्गत जारी दिशा निर्देशों के अनुरूप एम्पेनल्ड कंस्लटेंस में से सात का चयन किया जाकर दिनंाक 04.02.2015 को प्रस्तुतीकरण न्यास अधिकारियों के समक्ष किया गया। इस क्रम में चयनित कंस्लटेंस मैसर्स ज्भ्म् थ्व्त्डै की कविता जैन द्वारा दिनंाक 26.02.2015 को अतिरिक्त मुख्य सचिव महोदय के समक्ष प्रस्तुुतिकरण किया गया जिसमें श्रीमान द्वारा दिये गए सुझावों को शामिल करतें हुए नया प्रस्तुतिकरण तैयार कर माननीय मुख्यमंत्री महोदय  के समक्ष  दिनंाक 16.07.2015 को प्रस्तुत किया गया था। माननीय मुख्यमंत्री महोदया द्वारा प्रदान किए गए निर्देशो व सुझावो को शामिल करते हुए सशोधिंत प्रस्तुतीकरण अतिरिक्त मुख्य सचिव महोदय के समक्ष प्रस्तुत किया गया है। जिसकी स्वीकृती न्यास को प्राप्त हो गई है। न्यास द्वारा कंसलटेंट श् द फोमर्स श् को पत्र क्रमांक 9222/दिनांक 05.08.2015 के द्वारा प्रस्तावित कार्य की विस्तृत परियोजना रिपोर्ट बनाने हेतु निर्देषित कर दिया गया। कन्सलटंेट द्वारा वर्तमान में फ्रंट प्लाजा के सौन्दर्यकरण , मन्दिर के समीप नवीन प्लाजा के निर्माण, सूरसागर की आंतरिक दीवारों पर सौन्दर्यकरण के कार्य और विद्युत कार्य इत्यादि हेतु तकमीनें प्रस्तुत किये गये।जिनकी कुल लागत 90.00 लाख रू है। सिविल व विद्युत कार्य के कार्यादेश प्रदान कर कार्य प्रगति पर है। द्वितीय चरण में करवाये जाने वाले शेष रहे कार्यों में प्रमुखतः एल.ई.डी फांऊटेंन, जूनागढ़ की तरफ की दीवार की रिशिफ्टिंग तथा पम्प हाऊस से लगता प्लाजा है। जिनकी कंसलटेंट द्वारा विस्तृत प्रोजेक्ट रिपोर्ट बनायी जा रही है। कंसलटेंट द्वारा ई-मेल के माध्यम से भेजे गये तकमीने की जांच पर यह पाया गया कि विभिन्न बैठकों एवं भ्रमण के दौरान प्राप्त निर्देशों का पूर्णतः समावेश नहीं किया गया है। इस हेतु कसंलटेंट को समय -समय पर दूरभाष द्वारा एवं ई-मेल द्वारा आग्रह किया गया कि शेष रही ड्राईंग डिटेल डिजाईन व तकमीने पेश करने हेतु निर्देशित किया गया। कंसलटेंट द्वारा तकमीने प्रस्तुत किये जाने पर शेष रहे कार्यों पर अग्रिम कार्यवाही की जावेगी। न्यास द्वारा पूर्व में नियुक्त सिविल कार्य के संवेदक द्वारा कार्य धीमी गति से करने के कारण विभिन्न नोटिस दिए गए ( पत्र क्रंमाक 329 दिनंाक-25.02.2016, पंत्राक 4407 दिनंाक-28.03.2016 एवं पत्र क्रंमाक 4648 दिनंाक-10.05.2016) परन्तु संवदेक द्वारा कार्य की गति में सुधार नही किया गया अतः सं अनुबंध की धाराओं के अंतर्गत कार्यादेश पत्र क्रंमाक 422 दिनंाक- 12.05.2016 द्वारा निरस्त कर द्वितीय न्यूनतम दर दाता को कार्यादेश पत्र क्रंमाक 431 दिनंाक-13.05.2016 द्वारा प्रदान कर दिया गया है। नवीन संवदेक द्वारा कार्य प्रारम्भ करवा दिया गया है।  वर्तमान में न्यास द्वारा फ्रंट प्लाजा में मुख्य प्रवेश द्वार, स्टोन दासा, ग्रील, प्लांटर, बेंच एवं मुख्य प्लाजा की मुख्य प्रदर्शन वाॅल का निर्माण कार्य प्रगति पर है। आतंरिक दीवारों पर पेंटिग बनाने का कार्य भी सामान्तर प्रगति पर है। सूरसागर के पाश्र्व भाग में स्थित मन्दिर प्लाजा हेतु स्टोन फ्लोरिंग का कार्य प्रगति पर है। सूरसागर में नौकायान हेतु न्यास द्वारा 7 नई नोकाएं उपलब्ध करवा दी गई है।

 

 

 

4. माननीय मुख्यमंत्री महोदय की बजट घोषणाएं

रविन्द्र रंगमंच का निर्माण कार्य बज़ट घोषणा वर्ष 2014-15

रविन्द्र रंगमंच का निमार्ण कार्य सन् 1994 में शुरू हुआ परन्तु वित्तीय संसाधनों के अभाव में वर्ष 1995 में बन्द हो गया जिससे समय-समय पर पुनः शुरू करने की कोशिश की गई किन्तु वित्तीय संसाधनों के अभाव में कार्य शुरू नही हो पाया वर्ष 2011 में टेगौर कल्चरल कोम्पलेक्स स्कीम के तहत् वित्तीय सहायता प्राप्त करने हेतु कार्यवाही शुरू की गई जिसके लिए नेशनल स्कूल आॅफ ड्रामा के थियटर विशेषज्ञ डाॅ निसार आलाना ने रविन्द्र रंगमंच का निरीक्षण किया और कार्य की विस्तृत परियोजना हेतु नेशनल स्कूल आॅफ ड्रामा में प्रस्तुत करने के निर्देश दिये गये जिसकी अनुपालना में 20 फरवरी 2012 को नेशनल स्कूल आॅफ ड्रामा की निदेशक श्रीमती अनुराधा कपूर के सामने विस्तृत परियोजना रिपोर्ट पस्तुत की गई। श्रीमती अनुराधा कपूर के दिये गये सुझावों को शामिल करते हुए  न्यास के नव नियुक्त आर्किटेक्ट मैसर्स ज्ञण्स्ण्डण् कन्सलटेंट द्वारा प्रस्तुत रविन्द्र रंगमंच की विस्तृत कार्य योजना रिपोर्ट नेशनल स्कूल आॅफ ड्रामा को टैगोर कल्चरल स्कीम के तहत अनुदान आवंटन हेतु निर्धारित आवेदन प्रारूप को क्रंमाक संख्या 20563-20565 के द्वारा दिनंाक 28.11.2014 को स्पीट पोस्ट के द्वारा नेशनल स्कूल आॅफ ड्रामा को प्रेषित कर दिया गया है। टेगोर कल्चर काॅम्पलेक्स स्की म के तहत कुल लागत राशि का 60 प्रतिशत राशि (570 लाख रूपये)  केन्दी्रय सहायता प्राप्त करने के लिए पत्र क्रमांक 20563 दिनांक 28.11.2014 के द्वारा केन्द्रीय सरकार को प्रेषित किया गया है।  इसी क्रम मे आग्रह करने हेतु माननीय मुख्यमत्रंी महोदया द्वारा लिखे जाने वाला पत्र का ड्राफ्ट 2 सितम्बर 2015 को अतिरिक्त मुख्य सचिव महोदय को ईमेल द्वारा प्रेषित किया गया है। रविन्द्र रंगमंच के निर्माण हेतु अनुदान राशि हेतु राज्य सरकार को दिनांक 03.11.2015 को पुनः पत्र लिख आग्रह किया गया।

 मैसर्स हाफिज द्वारा दिनंाक 01.06.2015 को चतुर्थ विकलप प्रस्तुत किया गया। इस विकल्प पर मैसर्स के.एल.एम. एसोसियेट व मैसर्स आर्किटैक्ट हाफिज को समान रूप से सहमत दिखे। अतः न्यास पंत्राक नविन्यास/बीका/अधि-अधि-ा /2014/6245-47 दिनंाक 03.06.2015 द्वारा नवीन विकल्प अनुसार कार्य की जाने की स्वीकृति माँगी गई। जिसके क्रम में शासन उप सचिव द्वितीय नगरीय विकास विभाग राजस्थान सरकार के पंत्राक पं.2(15)नविवि/ जनरल/2014/ जयपुर दिनंाक   08.06.2015 से स्वीकृति प्राप्त हो गई है। जिसके क्रम में न्यास द्वारा रविन्द्र रंगमंच के संवेदको को पंत्राक नविन्यास/बीका/अधि-अधि ाा/2015/6377-391 दिनंाक 09.06.2015 को पत्र जारी कर कार्य शुरू करवा दिया गया वर्तमान मे न्यास द्वारा बेसमेट का कार्य व रूफ ट्रीटमेन्ट का कार्य पूर्ण कर दिया है मल्टीपरपज हाॅल के निर्माण हेतु आॅडिटोरीयम की संरचना में बदलाव कर मल्टीपरपज हाॅल की सरंचना का निर्माण कार्य , आॅडिटोरियम मे कैटवाॅक का निर्माण कार्य एंवम् फिक्सिंग कार्य, आॅडिटोरियम स्टेज मे सीसी फ्लोरिंग का कार्य पूर्ण हो गया है। विनायल फ्लोरिंग ओर वुडन फ्लोरिगं का कार्य, फायर फायटिंग  सेनेट्र्री, लैण्डस्केपिंग, बाह्य विघुत कार्य, फाॅलससेलिंग का कार्य, आॅडिटोरियम आॅडियो विजूएल , स्टेज विंग वाॅल्स, स्टेज फाॅलससेलिंग, स्टेज फ्लोरिंग  एवम् स्टैज एफ एफएचओ बार इत्यादि समानान्तर प्रगति पर है। स्वीकृत विकल्प के अनुसार करवाये जाने वाले अतिरिक्त/अधिक कार्य एवं प्रख्यात नाट्यकर्मी श्रीमति संजना कपूर द्वारा दिये गये सुझावों को सम्मिलित करने पर करवाये जाने वाले अतिरिक्त/अधिक कार्य का तकमीना बनाकर मूल कार्य में सम्मिलित करते हुए न्यास बज़ट बैठक दिनांक 12.05.2016 में स्वीकृत करते हुए संशोधित वित्तीय स्वीकृति जारी कर दी गई है तद्नुसार कार्य त्वरित गति से किया जा रहा है। 

बीकानेर शहर में रेल्वे फाटको, कोटगेट एल.सी. 140 व संाखला फाटक एल.सी. 141 की समस्या के निस्तारण हेतु एलीवेटेड रोड़ घोषणा वर्ष 2016-17

बीकानेर शहर में लालगढ़ रेल्वे स्टेशन से बीकानेर स्टेशन तक रेल्वे लाईन पर चार रेल्वे लेवल क्राॅसिंग है। जिनमें से दो रेल्वे क्राॅसिंग पर आर.ओ.बी.(एन.एच-15, चैखुटी) बनाये जा चुके है शेष रहे दो रेल्वे क्राॅसिंग कोटगेट फाटक, सांखला फाटक, जो मुख्य बाजार में स्थित है, पर ट्राफिक जाम की गंभीर समस्या है। इस फाटको पर रेल के आवागमन के कारण दिन में 40 से 45 बार फाटक बन्द किया जाता है। जिसके कारण सड़क पर भारी ट्राफिक जाम हो जाता है तथा क्राॅसिंग खुलने के पश्चात् भी 20 से 30 मिनट तक ट्राफिक जाम रहता है। इस समस्या के संबध्ंा में माननीय उच्च न्यायालय जोधपुर में पीआईएल नं. 443/2014 मुकुल कृष्ण व्यास और अन्य बनाम युनियन आॅफ इंडिया के क्रम में दर्ज हुई थी। जिसमें दिनंाक 19.5.2015 को माननीय उच्च न्यायालय के अन्तिरिम आदेशों की पालना में दिनंाक 12.08.2015 को माननीय मुख्य सचिव महोदय की अध्यक्षता में बैठक आयोजित की गई थी। जिसमें प्रकरण से संबंधित समस्त पक्षों  व मामले से संबंधित सभी अन्य पक्षों के साथ सभी पक्षों को सुनवाई का पुर्ण अवसर प्रदान करते हुए व उनके द्वारा प्रस्तुत अभिलेखों, तथ्यों व सुझावों पर गम्भीरता पूर्वक विचार व मनन करने के पश्चात् परिवहन आयुक्त द्वारा अंतिम निष्कर्ष से मुख्य सचिव महोदय की आज्ञा से कार्यवाही विवरण क्रंमाक थ्ण्छवण्रू.थ्ण्26;475द्धध्ज्तध्त्ंपसूंलध्भ्फध्2014ध्15747 क्ंजमक 14ण्8ण्2015 को जारी किया गया जिसमें कोटगेट व सांखला रेल फाटको के समाधान हेतु एलिवेटेड रोड को उपयुक्त पाया जाकर प्रस्तावित किया गया। माननीय मुख्यमंत्री महोदया द्वारा एलीवेटेड रोड़ की घोषणा वर्ष 2016-17 में बज़ट घोषणा में कर उक्त घोषणा में 134.00 करोड़ का फण्ड आवंटन किया है। उक्त रिपोर्ट व कार्यवाही विवरण माननीय उच्च न्यायालय मे प्रस्तुत कर दिया गया है। अतिरिक्त महाअधिवक्ता की राय की अनुसार एलीवेटेड रोड़ के निर्माण हेतु न्यायालय की कोई रोक नहीं है। (संलग्न पत्र) माननीय उच्च न्यायालय से भविष्य मे प्राप्त निर्देशो के अनुसार अग्रिम कार्यवाही की जानी प्रस्तावित है। उक्त कार्य की डीपीआर बनाने एवं अग्रिम कार्यवाही हेतु राज्य सरकार द्वारा एन.एच.ए.आई को अधिकृत किय गया है। 

 

5. सुराज संकल्प वर्ष 2013 के बिन्दूओं की प्रगति 

सुराज संकल्प 2013 में संभाग मुख्यालय के शहरों एंव अन्य बढे शहरों के यातायत की समस्या से निजात पाने के लिए फलाई रोड़, आर.ओ.़बी.रोड़,अन्डर ब्रिज तथा पार्किग स्थल योजना बद्व रूप से विकसित किये जाने की घोषणा की गई थी। हालांकि घोषणा में किसी विशेष रोड़ एवं स्थल पर आर.ओ.बी, अण्डर ब्रिज, पार्किंग इत्यादि बनाने की घोषणाएं नहीं की गई। अतः न्यास द्वारा इस घोषणा के संदर्भ में  की बिन्दूवार की गई कार्यवाही विवरण निम्नानुसार है:-

चैखूंटी ओवरब्रिज का निर्माण कार्य 

राजस्थान सरकार द्वारा बीकानेर शहर के ट्रैफिक की समस्या के निराकरण हेतु चाॅखूटंी ओवरब्रिज का निर्माण पूर्ण कर जून 2014 मे लोकापर्ण श्री यूनूस खांन माननीय मंत्री सार्वजनिक निर्माण विभाग राजस्थान सरकार द्वारा किया गया है। 

पूगल रोड़ ओवरब्रिज का निर्माण कार्य 

बीकानेर शहर में पुगल रोड़ पर एल.सी.-4 पर आर.ओ.बी. का निर्माण कार्य रिड़कोर द्वारा करवाया गया है। कार्य की लागत लगभग 50.90 करोड़ आई है। उपरोक्त कार्य दिनंाक 27 अगस्त 2013 से शुरू कर दिनंाक 31 अक्टूबर 2015 को पूर्ण कर दिया गया है। आर.ओ.बी. की कुल लम्बाई 694.60 मीटर है। आर.ओ.बी. पर प्रकाश की पूर्ण व्यवस्था है एवं सुव्यवस्थित रूप से भित्ति चित्र बनाये गए हैं। आर.ओ.बी. के दोनो तरफ सर्विस रोड़ बनाई गई हैं। इस आर.ओ.बी. के बनने से खाजुवाला, अनुपगढ़, पूगल, छतरगढ़ ग्रामीण क्षेत्रों तथा करणी औद्योगिक क्षेत्र, राजकीय अभियान्त्रिकी काॅलेज बीकानेर हेतु आवागमन का मार्ग सुगम हुआ है। फल, ऊन मण्ड़ी एवं करणी औद्योगिक क्षेत्र के मध्य  फाटक की समस्या का आर.ओ.बी. बनने से निदान हुआ है। 

कोटगेट एंवम् के.ई.एम.रोड़ पर एलिवेटेड रोड बनाने हेतु।

के.ई.एम.रोड के मुख्या बाजार में टेªफिक की समस्या के समाधान हेंतु एलीवेटेड रोड़ बनाये जाने संबंधी घोषणा माननीय मुख्यमंत्री महोदय द्वारा बज़ट घोषणा वर्ष 2015-16 में की गइ्र्र है। वर्तमान में उक्त हेतु माननीय उच्च न्यायाल का स्थगन है। माननीय उच्च न्यायालय के आदेशानुसार अग्रीम कार्यवाही की जानी प्रस्तावित है। माननीय मुख्यमंत्री महोदया द्वारा एलीवेटेड रोड़ की घोषणा वर्ष 2016-17 में बज़ट घोषणा में कर उक्त घोषणा में 134.00 करोड़ का फण्ड आवंटन किया है। उक्त रिपोर्ट व कार्यवाही विवरण माननीय उच्च न्यायालय मे प्रस्तुत कर दिया गया है। अतिरिक्त महाअधिवक्ता की राय की अनुसार एलीवेटेड रोड़ के निर्माण हेतु न्यायालय की कोई रोक नहीं है। (संलग्न पत्र) माननीय उच्च न्यायालय से भविष्य मे प्राप्त निर्देशो के अनुसार अग्रिम कार्यवाही की जानी प्रस्तावित है।

रतन बिहारी पार्क में पांर्किग विकसित करने हेतु।

के.ई.एम.रोड़ मुख्य बाजार की पार्किग की समस्यायंे के समाधान हेतु रतन बिहारी पार्क में पार्किग क्षेत्र बनाया जाना प्रस्तावित है। इस कार्य की घोषणा  माननीय मुख्यमंत्री महोदया की अध्यक्षता में हुई मंत्री परिसद की बैठक दिनंाक 30.06.2014 में घोषणा की गई है। रतन बिहारी पार्क देव स्थान विभाग की सम्पति है। वर्तमान में रतन बिहारी पार्क में न्यायालय का स्थगन है। जिसकी आगामी तारीख पेशी 06.06.2016 निर्धारित है।

 

 

बीकानेर शहर की कम्पे्रसिव मोबिलिटी प्लान

बीकानेर शहर हेतु कम्पे्रसिव मोबिलिटी प्लान बनाये जाने हेतु अनुमानित 80.00 लाख की लागत आने की संभावना है। न्यास मे वर्तमान मे सीमित वितीय ससांधन उपलब्ध होने के कारण न्यास स्तर पर कम्पे्रसिव मोबिलिटी प्लान बनाय जाना संभव नही है। अरबन ट्रान्सपोर्ट मिनिस्ट्री आॅफ अरबन डवलपमेंट भारत सरकार द्वारा कम्पे्रसिव मोबिलिटी प्लान बनाये जाने हेतु वितीय सहायता उपलब्ध करवाई जाती है। जिस बाबत् वितीय सहायता उपलब्ध करवाये जाने हेतु न्यास द्वारा अरबन ट्रान्सपोर्ट मिनिस्ट्री आॅफ अरबन डवलपमेंट भारत सरकार को अरबन ट्रान्सपोर्ट प्लानिंग स्कीम के तहत केन्द्रीय वितीय सहायता उपलब्ध करवाने हेतु पत्र क्रमांक 10527-31 दिनांक 02.09.2015 के द्वारा निवेदन किया गया जिसके प्रत्यूतर मे अरबन ट्रान्सपोर्ट मिनिस्ट्री आॅफ अरबन डवलपमेंट भारत सरकार से प्राप्त पत्र क्रमांक के 14011/53/2015 यूटी प्ट के द्वारा प्रदत निर्देशो के अनुसार उक्त प्रस्ताव राज्य सरकार के माध्यम से भेजे जाने के निर्देश प्रदान किए गए है अतः निर्देशो की अनुपालना मे राज्य सरकार को पत्र क्रमांक 12371-73 के द्वारा केन्द्रीय वितीय सहायता हेतु पत्र प्रेषित किया गया है। नगर निगम बीकानेर द्वारा अमृत योजना के अंतर्गत बीकानेर शहर की यातायात समस्या के समाधान हेतु निविदा आमंत्रित कर डीपीआर बनायी जा रही है। 

 

6. बकाया वी.आई.पी प्रकरणों की स्थिति: नगर विकास न्यास बीकानेर के बकाया वी.आई.पी प्रकरणों की स्थिति आज दिनांक तक शून्य है। 

7. बकाया विधानसभा प्रश्नों की स्थिति: नगर विकास न्यास बीकानेर के बकाया विधानसभा प्रश्नों की स्थिति आज दिनांक तक शून्य है। 

 

 

8. इस वित्तीय वर्ष में पूर्ण होने वाले महत्वपूर्ण कार्य व शुरू किये जाने वाले महत्वपूर्ण कार्य

पूर्ण होने वाले कार्य 

 

माननीय मुख्यमंत्री महोदया की घोषणाओं की पालना हेतु न्यास द्वारा रविन्द्र रंगमंच का निर्माण  कार्य, सूरसागर झील के सौन्दर्यकरण कार्य एवं हेरिटेज वाॅक का निर्माण कार्य प्रारम्भ करवाये गये। यहाँ यह उल्लेखनीय है कि रविन्द्र रंगमंच का निर्माण कार्य वर्ष 1992 में प्रस्ताव बनाकर वर्ष 1995 में प्रारम्भ करवाया गया जो राशि के अभाव में वर्ष 1996 में बन्द हो गया। राज्य सरकार के निर्देंशानुसार अगस्त 2015 में कार्य पुनः शुरू करवाया गया। रविन्द्र रंगमंच की निर्माण हेतु कुल 950.00 लाख रूपये की लागत आने की संभावना है। वर्तमान में कार्य त्वरित गति से किया जा रहा है जिसे शीघ्र ही पूर्ण कर दिया जाएगा। माननीय मुख्यमंत्री महोदया की घोषणा के अनुरूप बीकानेर शहर में पर्यटको हेतु हैरिटेज रूट का निर्माण किया जा रहा है। वर्तमान में कार्य फिन्सिंग चरण में है जिसे शीघ्र ही पूर्ण कर दिया जायेगा। बीकानेर शहर में पर्यटकों को बढ़ावा देने के लिए न्यास द्वारा बीकानेर रेल्वे स्टेशन पर जूनागढ़ बादल महल से प्रेरित पेन्टिंग करवायी जा रही है। बादल महल पेंटिंग में भित्ती चित्र इत्यादि लगभग 3000 वर्ग फूट पर बनाये जा रहे है।  जिन्हें अतिशीघ्र ही पूर्ण कर लिया जावेगा। 

शुरू किये जाने वाले कार्य 

बीकानेर शहर में शेष रही रिंग रोग जो जैसलमेर रोड़ नेश्नल हाईवे को जोधपुर नेश्नल हाईवे को जोड़ती है, का निर्माण किया जाना प्रस्तावित है। उक्त कार्य हेतु वित्तीय संसाधन के लिए राज्य सरकार को निवेदन किया गया है। रिंग रोड़ के इस भाग के निर्माण हो जाने से बीकानेर शहर के चारों तरफ रिंग रोड़/बाईपास उपलब्ध होगी। जिससे बीकानेर शहर में बाहरी वाहनों के आवागमन पर रोक लगेगी व आवागमन सुगम होगा। 

बीकानेर शहर में लालगढ़ रेल्वे स्टेशन से बीकानेर स्टेशन तक रेल्वे लाईन पर चार रेल्वे लेवल क्राॅसिंग है। जिनमें से दो रेल्वे क्राॅसिंग पर आर.ओ.बी.(एन.एच-15, चैखुटी) बनाये जा चुके है शेष रहे दो रेल्वे क्राॅसिंग कोटगेट फाटक, सांखला फाटक, जो मुख्य बाजार में स्थित है, पर ट्राफिक जाम की गंभीर समस्या है। इस समस्या के संबध्ंा में माननीय उच्च न्यायालय जोधपुर में पीआईएल नं. 443/2014 मुकुल कृष्ण व्यास और अन्य बनाम युनियन आॅफ इंडिया के क्रम में दर्ज हुई थी। जिसमें दिनंाक 19.5.2015 को माननीय उच्च न्यायालय के अन्तिरिम आदेशों की पालना में दिनंाक 12.08.2015 को माननीय मुख्य सचिव महोदय की अध्यक्षता में बैठक आयोजित की गई थी। जिसमें कोटगेट व सांखला रेल फाटको के समाधान हेतु एलिवेटेड रोड को उपयुक्त पाया जाकर प्रस्तावित किया गया। उक्त रिपोर्ट व कार्यवाही विवरण माननीय उच्च न्यायालय मे प्रस्तुत कर दिया गया है। माननीय उच्च न्यायालय से भविष्य मे प्राप्त निर्देशो के अनुसार अग्रिम कार्यवाही की जानी प्रस्तावित है। माननीय मुख्यमंत्री महोदया द्वारा एलीवेटेड रोड़ की घोषणा वर्ष 2016-17 में बज़ट घोषणा में कर उक्त घोषणा में 134.00 करोड़ का फण्ड आवंटन किया है। उक्त रिपोर्ट व कार्यवाही विवरण माननीय उच्च न्यायालय मे प्रस्तुत कर दिया गया है। अतिरिक्त महाअधिवक्ता की राय की अनुसार एलीवेटेड रोड़ के निर्माण हेतु न्यायालय की कोई रोक नहीं है। (संलग्न पत्र) माननीय उच्च न्यायालय से भविष्य मे प्राप्त निर्देशो के अनुसार अग्रिम कार्यवाही की जानी प्रस्तावित है।

बीकानेर शहर के मुख्य मार्ग पर स्थित लालगढ़ रेलवे क्राॅसिंग के बार-बार बन्द होने से जाम की स्थिति उत्पन्न होती हैं। लालगढ़ रेलवे क्राॅसिंग नंबर एल.सी. 136 हैं। इस रेलवे क्राॅसिंग के समीप श्न्टिंगयार्ड एवं वाॅशिंग यार्ड होने के कारण ट्रेनों का आवागमन अत्यधिक मात्रा में होता हैं। उक्त रेलवे लाईन सुरतगढ़ एवं कोलायत, फलौदी रूट का जंक्शन पाॅइन्ट हैं। इसके समीप ही अनाज मण्डी, करणी व बीछवाल औद्योगिक क्षैत्र, राजकीय अभियांत्रिकी महाविधालय एवं मुक्ता प्रसाद आवासीय योजना एवं करणी नगर आवासीय योजना एवं पुगल रोड़ एवं गंगानगर रोड़ को जोड़ने का लिंक क्षैत्र हैं। लालगढ़ रेलवे क्राॅसिंग व्यस्तम मार्ग है इस पर रेलवे ओवरब्रीज बन जाने से ट्राफिक जाम से मुक्ति होगी एवं क्षैत्र के लोगों को आवागमन आसान होगा। इस ओवरब्रीज के बन जाने से बीकानेर शहर के औद्योगिक एवं शैक्षिक विकास के मार्ग सुलभ होंगे। रेलवे क्राॅसिंग राज्य सरकार द्वारा पूर्व में स्वीकृत है। रूफडिकों द्वारा लालगढ़ रेलवे क्राॅसिंग के निर्माण हेतु 39.80 करोड़ के मैचिंग शेयर की मांग की गई है जो राज्य सरकार द्वारा दी जानी अपेक्षित हैं। 

न्यास द्वारा डवलप एवं अनडवलप लैेण्ड बैंक तैयार कर लिया गया है। न्यास लैण्ड बैंक पर अविकसित लेण्ड बैंक में कुल 27 पोकेट पर कुल 3532.36 हेक्टर भूमि उपलबध है एवं विकसित लेण्ड बैंक में 27 पोेकेट के रूप में कुल 42.84 हेक्टर लेण्ड बैंक पर भूमि उपलब्ध है। इस हेतु न्यास के पुरानी जेल परिसर स्कीम, अन्तोदय नगर व्यावसायिक योजना, स्वर्ण जयन्ति योजना इत्यादि को गूगल मेप पर आॅफ लाईन अंकन कर दिया गया है। शेष रही योजनाओं का गूगल मेप पर अंकन किया जा रहा है, शीघ्र ही आॅन लाईन किया जाना प्रस्तावित हैं। इस लैेण्ड बैंक के विक्रय से अच्छी आय होगी। 

सर्व प्रथम न्यास द्वारा लीज रिकाॅर्ड को आॅन लाईन किया जाना प्रस्तावित है । इसी प्रकार चरणबद्व रूप में समस्त रिकाॅर्ड का कम्प्यूटराईजेशन कर आॅन लाईन किया जाना प्रस्तावित है। 

न्यास द्वारा माननीय मंत्री महोदय नगरीय विकास विभाग की बज़ट घोषणा के अनुरूप बीकानेर शहर हेतु कम्प्रेसिव मोबेलिटी प्लान आगामी वित वर्ष में बनाया जाना प्रस्तावित है। 

 

9. मास्टर प्लान एवं सेक्टर प्लान के बिन्दूओं की समीक्षा

 

न्यास द्वारा बीकानेर शहर के नगरीय सीमा मंे मास्टर प्लान में सेक्टर प्लाॅन हेतु ब्लाॅक का चिन्ह्ीकरण कर लिया गया है जिसमें सेक्टर नं. 1 जिसका क्षेत्रफल जयपुर रोड़ के उत्तर एवं श्री गंगानगर रोड़ के पश्चिम में स्थित लगभग 450 हेक्टेयर तथा सेक्टर नं. 02 जयपुर रोड़ के दक्षिण एवं जोधपुर बाईपास सड़क के पश्चिम मंे स्थित लगभग 150 हेक्टेयर तथा सेक्टर नं. 03 जोधपुर रेल्वे लाईन के पश्चिम एवं जोधपुर बाईपास सड़क के उत्तर में स्थित लगभग 100 हेक्टयर एवं सेक्टर नं. 04 ग्राम कोलासर रोड़ के दक्षिण एवं ग्राम सुजानदेसर की गोचर भूमि के मध्य स्थित लगभग 100 हेक्टयर  में स्थित भाग को सेक्टर प्लान बनाने के लिए प्रस्तावित किया गया हैै। जिसमें राज्य सरकार से मान्यता प्राप्त स्वीकृत कंसलटेंट/इंजीनियर/आर्किटेक्ट से सर्वे हेतु निविदा आमंत्रित करने की विभागीय कार्यवाही की जा रही है। संलग्नक:- मास्टर प्लान में प्रस्तावित सेक्टर जोन

10. माॅडल बिल्डिंग बाॅयलाॅज में वर्षा जल संरक्षण प्रावधान की अब तक की प्रगति

न्यास विभाग की वेबसाईट पर पुराने प्रकरणों का अपडेशन वर्ष 2009-10 तक कर दिया गया है। नये प्रकरणों का इन्द्राज करने व प्रकरणों का अपडेशन करने हेतु कार्यालय में कार्यरत प्रभारी अधिकारियों के नाम न्याय विभाग की वेबसाईट लाईट्स पर प्रदर्शित नहीं हो रहे है। विभिन्न न्यायायिक प्रकरणों के नियुक्त प्रभारी अधिकारियों के नाम लाईटस पर दर्ज करवाने हेतु नगरीय विकास विभाग को न्यास के पत्रांक न्यास/विधि/2016/7735 दिनांक 3103.2016 के द्वारा निवेदन किया गया है। प्रभारी अधिकारियों के नाम लाईट्स पर दर्ज होने के पश्चात् नये प्रकरणों का इन्द्राज कर दिया जावेगा तथा अपडेशन से शेष रहे प्रकरणों का अपडेशन किया जाना संभव हो पावेगा।

11. स्पजमे थ्वतउंजम में न्यायायिक प्रकरणों की इन्द्राज की समीक्षा

न्यास विभाग की वेबसाईट पर पुराने प्रकरणों का अपडेशन वर्ष 2009-10 तक कर दिया गया है। नये प्रकरणों का इन्द्राज करने व प्रकरणों का अपडेशन करने हेतु कार्यालय में कार्यरत प्रभारी अधिकारियों के नाम न्याय विभाग की वेबसाईट लाईट्स पर प्रदर्शित नहीं हो रहे है। विभिन्न न्यायायिक प्रकरणों के नियुक्त प्रभारी अधिकारियों के नाम लाईटस पर दर्ज करवाने हेतु नगरीय विकास विभाग को न्यास के पत्रांक न्यास/विधि/2016/7735 दिनांक 3103.2016 के द्वारा निवेदन किया गया है। प्रभारी अधिकारियों के नाम लाईट्स पर दर्ज होने के पश्चात् नये प्रकरणों का इन्द्राज कर दिया जावेगा तथा अपडेशन से शेष रहे प्रकरणों का अपडेशन किया जाना संभव हो पावेगा।

 

 

 

: : visits count
Webpage Last Updated on : Wed Jun 22 15:59:01 IST 2016