Menu

Introduction

नगर निगम बीकानेर - एक परिचय

 
           भारतीय नक्शे मे पश्चिम उत्तर स्थित बीकानेर नगर की स्थापना 1515 वर्ष पूर्व हुई थी! सर्वप्रथम 1882 में बीकानेर नगर निगम एक सरकारी विभाग के रूप में कार्यरत थी! बीकानेर के भूतपूर्व राजा स्व. श्री गंगसिंजी के कार्यकाल से बीकानेर नगर निगम का प्रथक बजट तैयार होने लगा था| नगर निगम के आधिकारियों व कर्तव्यों को इंगित करने के लिए बीकानेर मुनिसिपल एक्ट 1923 को पारित हुआ! 1928 में इस अधिनियम में वांछित संशोधन भी किये गये ! 1959 में राजस्थान नगर निगम लागू हुआ! इस आधिनियाँ के तहत नगर निगम को बीकानेर नगर निगम का दर्जा प्राप्त हुआ !
 
           बीकानेर नगर निगम के प्रथम अध्यक्ष लुई पेट्रिक लेजवा थे! 1945 से 1946 के कल में गैर सरकारी अध्यक्ष के रूप में श्री बद्रिदास डागा मनोनीत रहे! स्व. श्री धनपत राय जनता द्वारा निर्वाचित पहले अध्यक्ष थे! जो 1947 से 1950 तक कार्यरत रहे! निगम के अध्यक्ष पद पर असीन रहे स्व. श्री गोविंद नारायण शर्मा ने राजस्थान स्वयात शासन संस्था की स्थापना करने का गौरव प्राप्त किया! इसी प्रकार निगम की सभापति रही श्रीमती कांता ख़तुरिया पहले राजस्थान लोक सेवा आयोग की सदस्य और फिर संघ लोक सेवा आयोग की सदस्यता तथा राजस्थान राज्य महिला आयोग आध्यक्षता बना कर बीकानेर नगर का गौरव बाड़ाया! निगम आध्यक्ष रहे श्री गोपाल जोशी इस क्षेत्र के विधायक के रूप में राजस्थान विधानसभा में बीकानेर का प्रतिनिधित्व कर चुके हैं!
 
           वर्ष 1972 के पाश्‍चात तक लम्बे आंतराल तक इस नगर निगम के चुनाव नही हुए थे भारतीय संविधान में जो दी गई अनुसूची और राज्य की विधायिका द्वारा राजस्थान नगर निगम अधिनियम में किए गये संशोधनों के परिणाम स्वरूप वर्ष 1994 में बीकानेर नगर निगम के पुन: चुनाव हुए और सभापति पद पर अन्य पिछड़े वर्ग की महिला श्रीमती जसोडा गहलोत आशीं हुई!
 
           नगर निगम के वर्तमान भव्य भवन की स्थापना वर्ष 1931 में हुई थी और समय-समय पर आबशकतानुसार इस भवन का विस्तार किया जाता रहा हैं! 2001 की जनगणना अनुसार नगर की जनसंख्या 560618 हैं!

 

Important Information
: : visits count
Webpage Last Updated on : Fri Jan 29 16:37:07 IST 2016